क्यों चाहिए जीवन बीमा?

कल्पना कीजिये: आप एक आरामदायक जीवन जी रहे हैं। आप खूब मेहनत करते हैं, और खुद की और अपने परिवार की खुशी के लिए पर्याप्त कमा रहे हैं। आपका जीवन अच्छा ख़ासा चल रहा है, और समय के साथ आप अपनी आय और अपने परिवार के जीवन का स्तर बढ़ाने की अपेक्षा कर रहे हैं।

अब, एक पल के लिए, आप अपने आप को इस तस्वीर से हटा दें। (मुझे पता है यह कठिन है, लेकिन एक सेकण्ड के लिए ऐसा करें!) क्या आप देखते हैं कि आपका परिवार आप के बिना वैसे ही आराम से रह रहा है जैसे पहले था? क्या उनका जीवन स्तर अब भी वैसा ही है, जब आप उनके पास नहीं हो?

ज्यादातर लोगों के लिए इस सवाल का जवाब होगा “नहीं”। यह इस पर निर्भर नहीं करता है कि आपका दोहरी आय वाला (double income) परिवार था कि नहीं। आय की हानि हमेशा किसी भी परिवार की वित्तीय योजनाओं में बाधा ला देती है। और अगर यह एकमात्र आय है, तो नुकसान बहुत ही गंभीर हो सकता है।

हाँ, हमें मरने के बारे में सोचना पसंद नहीं है। आखिरकार, यह एक सुखद बात नहीं है! लेकिन हमारे परिवार पर एक असामयिक मौत के प्रभाव पर विचार कर, क्या हमें कोई उपाय नहीं सोचना चाहिए?

स्वाभाविक है की परिवार के भावनात्मक नुकसान की भरपाई के लिए कुछ नहीं किया जा सकता है। लेकिन क्या ऐसे समय में हमें उनके आर्थिक रूप से ध्यान रखने के लिए कुछ नहीं करना चाहिए?

बेशक हमें करना चाहिए - खासकर जब मदद जीवन बीमा (life insurance) के रूप में आसानी से उपलब्ध है!

क्या है जीवन बीमा?

जीवन बीमा आप और बीमा कंपनी (insurance company) के बीच एक दीर्घकालिक अनुबंध (contract) है। इस अनुबंध के हिसाब से आप बीमा कंपनी को नियमित रूप से एक आवधिक राशि का भुगतान करने की सहमति देते हैं। बदले में कंपनी आपके उम्मीदवार (nominee) या आपके कानूनी वारिस (legal heir) को पूर्व निर्धारित राशि का भुगतान करने की सहमति देती है – अगर आपकी मृत्यु निर्धारित समय के पहले हो जाती है तब।

आप और जीवन बीमा कंपनी के बीच अनुबंध को जीवन बीमा पॉलिसी (life insurance policy) कहा जाता है। आप जो आवधिक भुगतान करते है उसे प्रीमियम (premium) कहा जाता है। आपकी असामयिक मौत हो जाने की स्थिति में बीमा कंपनी जिस राशि का भुगतान करती है उसे बीमा धन (सम अशयोर्ड or sun assured) कहा जाता है।

जिस अवधि के लिए आप प्रीमियम भुगतान करते है उसे प्रीमियम भुगतान अवधि (premium payment term) कहा जाता है।

और वह अवधि, जिस के दौरान कंपनी ने आपकी मौत हो जाने की स्थिति में राशि देने का आश्वासन दिया है,  उसे अवधि (tenure) या कार्यकाल (term) कहा जाता है। अधिकतर जीवन बीमा पॉलिसियों में प्रीमियम भुगतान अवधि और कार्यकाल एक ही होता है, लेकिन कुछ प्रकार की पॉलिसियों में वे भिन्न हो सकते हैं (इस बारे में और जानकारी के लिए आगे पढ़ें)

जीवन बीमा किसे खरीदना चाहिए?

यदि कोई अपने खर्च के लिए आप पर निर्भर करता है, तो आप को जीवन बीमा खरीदना चाहिए। मतलब, अगर कोई भी आप पर आश्रित (dependent) है, तो आपको जीवन बीमा खरीदना चाहिए।

आश्रित आपके माता पिता, पत्नि, बच्चे – कोई भी हो सकता है। ये वह व्यक्ति हैं जो आप की मृत्यु होने पर वित्तीय मुसीबत में हो सकते हैं।

कृपया ध्यान रखें की बीमा खरीदने की कोई आयु नहीं है – अगर आप पर कोई आश्रित है, तो आपको बीमा खरीदना चाहिए, भले ही आपकी उम्र 20 साल हो या फिर 50 साल।